Category Archives: News

(Hindi) बढ़त के साथ बंद हुआ निफ्टी

Sorry, this entry is only available in English.

(Hindi) FII sells shares worth Rs 6,000 crore

Sorry, this entry is only available in English.

8 कारोबारी सत्रों में निवेशक हुए हलाकान

Sensex ends downसेंसेक्स 1264 अंक गिरा, एफआईआई ने 6,000 करोड़ के शेयर बेचे

बाजार पूंजीकरण 6 लाख रोड़ घटा 

मुंबई– पिछले 9 महीनों से लगातार नई ऊंचाई छू रहा शेयर बाजार अब निवेशकों को निराश करते नजर आ रहा है। पिछले 8 कारोबारी सत्रों में बाजार की गिरावट से पूरी तस्वीर बदल गई है और ऐसा लगता है कि अब यहां से और गिरावट हो सकती है। इस दौरान निवेशकों को जमकर घाटा हुआ है और बाजार का माहौल पूरी तरह से नकारात्मक हो गया है। बुधवार को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का सेंसेक्स एक बार फिर से 439 अंक गिरकर 31159 अंक पर बंद हुआ।

विश्लेषकों का मानना है कि बाजार का माहौल इस समय पूरी तरह से मंदड़ियों के कब्जे में है और इसमें सुधार की गुंजाइश के लिए थोड़ा और इंतजार करना होगा। एक्सपायरी से एक दिन पहले बाजार में जारी यह गिरावट अगले कुछ दिनों तक और रह सकती है।पिछले 8 दिनों में बाजार की तस्वीर पूरी तरह से नकारात्मक हो गई है और अगर पिछले चार कारोबारी सत्रों में देखें तो उसमें से तीन सत्रों में हर दिन 400 अंकों से ज्यादा की गिरावट हुई है। शुक्रवार, सोमवार और बुधवार को 400 अंकों से ऊपर की गिरावट देखी गई है और पिछले 8 कारोबारी सत्रों में कुल 1260 अंकों की गिरावट दर्ज की गई है।

इस दौरान निवेशकों की पूंजी में 6 लाख करोड़ रुपये की कमी आई है। 18 सितंबर को कुल सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 136.87 लाख करोड़ रुपये था, जो अब घटकर 130 लाख करोड़ रुपये पर आ गया है। विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) ने इस दौरान जमकर बिकवाली की है और पिछले 8 दिनों में 6 हजार करोड़ रुपये मूल्य के शेयरों की बिकवाली की है। बुधवार को करीबन सभी सेक्टरों में जमकर बिकवाली देखी गई और इसमें लॉर्ज कैप, मिड कैप और स्मॉल कैप सभी का समावेश था। इस वजह से कई कंपनियों के शेयर 52 हफ्ते के निचले स्तर पर पहुंच गए।

Capacity Infra IPO application for Rs 73000 crores instead of 400 crores

Capacity Infra IPO

Mumbai – In this fast-moving IPO market this week, where Dixon Technologies IPO received 114 times the subscription from investors, the investors have shown good interest in the IPO of the Capacity Infra, which is closing on the last day of the week. On Friday, on the last Friday, it got more than 182 times the subscription till 5 o’clock. In this way, this IPO has also joined the list of hit IPOs.

 Capacity Infra’s IPO was open on September 13 and the company had come to raise Rs 400 crore from the market. But on the last day it received applications for more than Rs. 72,000 crores rather than 400 crores. This subscription, originally given to this company of manufacturing, has made it easy for other companies too.

 Well this week, ICICI Lombard’s IPO is open, next week Proteap Snacks and SBI Life will open an IPO. Capacity IPO received an application for 207 million shares, while its IPO size was just 1.14 million shares. The gray market premium of this IPO had already indicated and this premium was more than Rs. 100. The scope of this IPO was fixed at Rs 245-250 per share.

Apart from this, those who got good membership in the IPO till now, in 2000, number Infotech 284 times, FCS software 176 times, Indus Network 174 times, Salasar Technology 273 times in the same year, DEMART 104 times, CDSL 170 times, Quas carp was 143 times and Advance enzyme got 116 times.

सरकारी कंपनियों के शेयरों पर ज्यादा भरोसा जताती है एलआईसी

मुंबईदेश की सबसे बड़ी बीमा और निवेश कंपनी भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) बाजार में निवेश करते समय सरकारी कंपनियों के शेयरों पर ज्यादा भरोसा करती है। आंकड़े बताते हैं कि इन कंपनियों में वह ज्यादा शेयरों की खरीद करती है।

 

हाल में एलआईसी चेयरमैन वी.के. शर्मा ने एक पॉलिसी लांच के अवसर पर बताया कि वित्तीय वर्ष 2017 में निगम ने इक्विटी से 19,000 करोड़ रुपये की कमाई की है। हालांकि उसकी जितनी भी धारिता इक्विटी में है, उसमें काफी अच्छा मुनाफा कमाया है। जिन शेयरों में उसने अच्छा मुनाफा कमाया है उसमें आईटीसी, ओएनजीसी, एनएचपीसी, एनटीपीसी, कोल इंडिया, सेल, आईसीआईसीआई बैंक और अन्य हैं।

 

आंकड़े बताते हैं कि 31 मार्च 2017 तक एलआईसी की जिन कंपनियों में होल्डिंग थी उसमें आईटीसी में उसके निवेश का मूल्य 55,668 करोड़ रुपये था। रिलायंस इंडस्ट्रीज में उसके निवेश का मूल्य 35,516 करोड़ रुपये है तो लार्सन एंड टूब्रो में 25,704 करोड़ रुपये और भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) में 21,632 करोड़ रुपये है।

 

अन्य सरकारी कंपनियों में आईओसीएल के शेयरों में निवेश का मूल्य 16,670 करोड़, एनटीपीसी में 15,902 करोड़ रुपये, कोल इंडिया में 14,428 करोड़, भेल में 5,984 करोड़, एनएमडीसी 5,807 करोड़ रुपये, बीपीसीएल में 2,070 करोड़ रुपए, ऑयल इंडिया  2,544 करोड़, पावर ग्रिड में 2,524 करोड़ तथा गेल के शेयरों में निवेश का मूल्य 5763 करोड़ रुपये है।

 

इसी तरह सेल के शेयरों में निवेश का मूल्य 3,088 करोड़ रुपये, कैनरा बैंक में 3,039 करोड़, पंजाब नेशनल बैंक में 5,763 करोड़, बैंक ऑफ बड़ौदा में 4,443 करोड़ रुपए, पावर फाईनेंस में 3,630 करोड़, सेंट्रल बैंक में 3,168 करोड, आईडीबीआई बैंक में 2,167 करोड़ रुपये और आरईसी में 2,522 करोड़ रुपये के शेयरों का मूल्य है।

 

इन कंपनियों के अलावा कुछ निजी कंपनियों में भी एलआईसी के निवेश का मूल्य भारी भरकम है। टाटा कंसलटेंसी सर्विसेस के शेयरों में निवेश का मूल्य 17,611 करोड़ रुपये है। टाटा समूह की अन्य कंपनियों टाटा मोटर्स और टाटा स्टील में भी इसका अच्छा निवेश है। आईसीआईसीआई बैंक में यह 18,865 करोड़ रुपये है। एसीसी सीमेंट में 3,353 करोड़ तो अंबूजा में यह 3,389 करोड़ रुपये है।

-->