Get Rich with Market Mantra - Right Strategy for a Secure Life Earning.

Think & Grow Rich - Everyone Deserve to be Rich, Make the right connect with stock marketing courses.

Nimish Sir - Exclusive Guest of Speaker at CNBCTV -18. Sharing thoughts on Profit Booking Stock Market.

Money is Never Hard to Earn. Only Needs right Guidance.

 

बाजार की गिरावट पर लगी रोक

Sensex ends down

मुंबई- आखिरकार पिछले पांच दिनों से बाजार में चली आ रही गिरावट पर रोक लग गई। दिनभर के उतार-चढ़ाव के बाद आखिरी घंटो में आई शॉर्टकवरिंग ने सहारा दिया। सेंसेक्स करीब 350 अंक ऊपर बंद होन में कामयाब रहा, जबकि निफ्टी में भी 1 फीसदी की मजबूती आई है। बीएसई का 30 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 347 अंक यानि 1 फीसदी की उछाल के साथ 36,652 के स्तर पर बंद हुआ है। वहीं, एनएसई का 50 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी 100 अंक यानि करीब 1 फीसदी की तेजी के साथ 11,067 के स्तर पर बंद हुआ है।

मिडकैप शेयरों में भी रिकवरी नजर आई है लेकिन स्मॉलकैप शेयरों में दबाव देखने को मिला है। बीएसई का मिडकैप इंडेक्स 0.4 फीसदी की बढ़त के साथ 15,275 के पास बंद हुआ है। आज के कारोबार में बीएसई का मिडकैप इंडेक्स 15,015 तक टूटा था। निफ्टी का मिडकैप 100 इंडेक्स 0.1 फीसदी की मामूली बढ़त के साथ 17,865 के स्तर पर बंद हुआ है। आज के कारोबार में निफ्टी का मिडकैप 100 इंडेक्स 17,542 तक गिरा था। हालांकि बीएसई का स्मॉलकैप इंडेक्स 0.75 फीसदी लुढ़का है।

बैंकिंग, फार्मा, एफएमसीजी और ऑटो शेयरों में खरीदारी से बाजार को सहारा मिला है। बैंक निफ्टी करीब 1.5 फीसदी की मजबूती के साथ 25,330 के स्तर पर बंद हुआ है। हालांकि रियल्टी, मेटल, पावर, ऑयल एंड गैस और कैपिटल गुड्स शेयरों में दबाव दिखा है। दिग्गज शेयरों में एचडीएफसी, कोटक महिंद्रा बैंक, एचयूएल, एक्सिस बैंक, सन फार्मा और मारुति सुजुकी 3.2-2.7 फीसदी तक चढ़कर बंद हुए हैं। हालांकि दिग्गज शेयरों में इंडियाबुल्स हाउसिंग, भारती इंफ्राटेल, यस बैंक, गेल, पावर ग्रिड, कोल इंडिया, अदानी पोर्ट्स और टाटा स्टील 5.3-1.1 फीसदी तक गिरकर बंद हुए हैं।

मिडकैप शेयरों में एमएंडएम फाइनेंशियल, एसजेवीएन, बायोकॉन, यूनाइटेड ब्रुअरीज और बेयर क्रॉप 6.1-4.7 फीसदी तक बढ़कर बंद हुए हैं। हालांकि मिडकैप शेयरों में इंडियन बैंक, फ्यूचर रिटेल, श्रीराम सिटी यूनियन, अदानी ट्रांसमिशन और रिलांस इंफ्रा 7.8-3.5 फीसदी तक टूटकर बंद हुए हैं। स्मॉलकैप शेयरों में केसीपी शुगर, धामपुर शुगर, डालमिया शुगर, त्रिवेणी इंजीनियरिंग और द्वारिकेश शुगर 20-8 फीसदी तक उछलकर बंद हुए हैं। हालांकि स्मॉलकैप शेयरों में दीवान हाउसिंग, एडलैब्स एंटरटेनमेंट, जेट एयरवेज, वक्रांगी और आरएस सॉफ्टवेयर 23.5-8.5 फीसदी तक लुढ़क कर बंद हुए हैं।

फंडों पर पड़ रहा है बिकवाली का दबाव

Technical Analysis Guide

बाजार में खरीदार गायब

मुंबई- पिछले कुछ दिनों से एनबीएफसी कंपनियों के शेयरों में भारी गिरावट और कुछ के डिफॉल्ट होने की घटना ने बाजार और निवेशकों को जहां दुखी कर दिया है, वहीं म्युचुअल फंड भी इससे परेशान हैं। खबर है कि म्युचुअल फंड निवेशकों द्वारा स्कीम से पैसे निकालने से काफी घटनाएं पिछले कुछ दिनों मे सामने आई हैं।

म्युचुअल फंड हाउसों के मुताबिक डीएचएफएल प्रमेरिका के लिक्विड फंड से 5,500 करोड़ रुपये की निकासी एक दो दिनों में हुई है जबकि इसका आकार 8,000 करोड़ रुपये है। इसी तरह टाटा शॉर्ट टर्म बांड फंड में से करीबन 2,500 करोड़ रुपये की निकासी हुई है और इसका आकार 5,000 करोड़ रुपये है। सूत्रों के मुताबिक कई फंड हाउसों के लिक्विड और बांड फंडों में से काफी ज्यादा निकासी हुई है और अभी भी यह जारी है।

फंड अधिकारियों के मुताबिक अगले कुछ दिनों तक यह निकासी जारी रहेगा और इससे फंड हाउसों पर दबाव बना हुआ है। हालांकि उधर दूसरी ओर बाजार में कॉर्पोरेट पेपर (सीपी) के खरीदार भी नहीं हैं। कहा जा रहा है कि जिन सीपी पर थोड़ी भी कर्ज है, उससे निवेशक बच रहे हैं। इक्विटी और डेट के अनुपात में अगर डेट है तो इसकी चिंता बाजार में काफी ज्यादा है।

कहा जा रहा है कि एएए और एए जैसे रेटिंग वाले पेपरों के भी खरीदार नहीं मिल रहे हैं। दरअसल डीएसपी ब्लैकरॉक म्युचुअल फंड ने जिस तरह से डीएचएफएल का सीपी बेचा है, उससे म्युचुअल फंड क्षेत्र में काफी चिंता हुई है और इस वजह से अब बहुत ही सावधानी के साथ निवेशक कदम रख रहे हैं। लिक्विड और बांड फंड पर काफी दबाव आ रहा है।

Higher Delivery Quantity (25/09/2018)

NAME DELV QTY AVG QTY CLOSE
TIMETECHNO 1138558 81585 150.25
CARERATING 259682 20720 1230.40
SKFINDIA 17348 1688 1717.05
KANSAINER 652780 125186 447.15
BLUEDART 14612 3218 3010.75
AUBANK 861641 195699 616.90
FINPIPE 116373 30289 528.30
ZEELEARN 325550 87152 37.65
CROMPTON 1815306 547436 219.95

52 Week High Breakout (24/09/2018)

TCS 2198.45

कुछ ही मिनटों में डूबे 11,000 करोड़

DHFL-promotes-Harshil-Mehta-as-joint-MD-CEO

मुंबई-दीवान हाउसिंग फाइनेंस (डीएचएफएल) के स्टॉक्स में कारोबार के दौरान 60 फीसदी की गिरावट रही। बीएसई पर डीएचएफएल का स्टॉक 60 फीसदी टूटकर 246.25 रुपए के निचले स्तर पर आ गया, जो स्टॉक का 2 साल का निचला स्तर है। स्टॉक्स में अचानक आई गिरावट से कंपनी के मिनटों में 11 हजार करोड़ रुपए ज्यादा साफ हो गए। हालांकि बाद में निचले स्तर से स्टॉक में कुछ रिकवरी आई। कंपनी में तरलता संकट की अफवाह से स्टॉक्स में बड़ी गिरावट से डीएचएफएल का बाजार पूंजीकरण 11 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा घट गया।

बाजार में अफवाह उड़ी कि डीएचएफएल ने बॉन्ड भुगतान में डिफॉल्ट किया है। वहीं तरलता संकट होने के डर से डीएचएफएल स्टॉक को लेकर नकारात्मक माहौल बना। इसके अलावा महंगी बॉन्ड यील्ड से मार्जिन घटने का डर से माहौल खराब हुआ। इस खबर से डीएचएफएल का स्टॉक बाजार पर औंधे मुंह गिर गया। हालांकि प्रबंधन ने निवेशकों की चिंता को देखते हुए कहा है कि कंपनी किसी भी रीपेमेंट को लेकर डिफॉल्ट नहीं की है।

इस वजह से अन्य एनबीएफसी कंपनियों कैन फिन होम्स, रिलायंस होम फाइनेंस, गृह फाइनेंस, रेपको होम फाइनेंस और एलआईसी हाउसिंग फाइनेंस के शेयर 12 से 18 फीसदी गिरकर 52 हफ्ते के निचले स्तर पर आ गए। पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस 9 फीसदी टूटा।

-->