सरकारी कंपनियों के शेयरों पर ज्यादा भरोसा जताती है एलआईसी

मुंबईदेश की सबसे बड़ी बीमा और निवेश कंपनी भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) बाजार में निवेश करते समय सरकारी कंपनियों के शेयरों पर ज्यादा भरोसा करती है। आंकड़े बताते हैं कि इन कंपनियों में वह ज्यादा शेयरों की खरीद करती है।

 

हाल में एलआईसी चेयरमैन वी.के. शर्मा ने एक पॉलिसी लांच के अवसर पर बताया कि वित्तीय वर्ष 2017 में निगम ने इक्विटी से 19,000 करोड़ रुपये की कमाई की है। हालांकि उसकी जितनी भी धारिता इक्विटी में है, उसमें काफी अच्छा मुनाफा कमाया है। जिन शेयरों में उसने अच्छा मुनाफा कमाया है उसमें आईटीसी, ओएनजीसी, एनएचपीसी, एनटीपीसी, कोल इंडिया, सेल, आईसीआईसीआई बैंक और अन्य हैं।

 

आंकड़े बताते हैं कि 31 मार्च 2017 तक एलआईसी की जिन कंपनियों में होल्डिंग थी उसमें आईटीसी में उसके निवेश का मूल्य 55,668 करोड़ रुपये था। रिलायंस इंडस्ट्रीज में उसके निवेश का मूल्य 35,516 करोड़ रुपये है तो लार्सन एंड टूब्रो में 25,704 करोड़ रुपये और भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) में 21,632 करोड़ रुपये है।

 

अन्य सरकारी कंपनियों में आईओसीएल के शेयरों में निवेश का मूल्य 16,670 करोड़, एनटीपीसी में 15,902 करोड़ रुपये, कोल इंडिया में 14,428 करोड़, भेल में 5,984 करोड़, एनएमडीसी 5,807 करोड़ रुपये, बीपीसीएल में 2,070 करोड़ रुपए, ऑयल इंडिया  2,544 करोड़, पावर ग्रिड में 2,524 करोड़ तथा गेल के शेयरों में निवेश का मूल्य 5763 करोड़ रुपये है।

 

इसी तरह सेल के शेयरों में निवेश का मूल्य 3,088 करोड़ रुपये, कैनरा बैंक में 3,039 करोड़, पंजाब नेशनल बैंक में 5,763 करोड़, बैंक ऑफ बड़ौदा में 4,443 करोड़ रुपए, पावर फाईनेंस में 3,630 करोड़, सेंट्रल बैंक में 3,168 करोड, आईडीबीआई बैंक में 2,167 करोड़ रुपये और आरईसी में 2,522 करोड़ रुपये के शेयरों का मूल्य है।

 

इन कंपनियों के अलावा कुछ निजी कंपनियों में भी एलआईसी के निवेश का मूल्य भारी भरकम है। टाटा कंसलटेंसी सर्विसेस के शेयरों में निवेश का मूल्य 17,611 करोड़ रुपये है। टाटा समूह की अन्य कंपनियों टाटा मोटर्स और टाटा स्टील में भी इसका अच्छा निवेश है। आईसीआईसीआई बैंक में यह 18,865 करोड़ रुपये है। एसीसी सीमेंट में 3,353 करोड़ तो अंबूजा में यह 3,389 करोड़ रुपये है।

-->